लाई-फाई (Li-Fi) क्या है और कैसे काम करता है? Li-Fi in hindi

लाई-फाई (Li-Fi) क्या है? और ये कैसे काम करती है?

अभी डाटा ट्रांसफर के लिए हम लोग वाई-फाई (Wi-Fi) तकनीक को सबसे बेहतर मानते हैं, लेकिन यह अब  इतनी तेज नहीं रही,जितनी की हमें अब आवश्यकता होने लगी हैं। इस आवश्यकता के लिए इससे भी तेज लगभग सौ गुना तेज तकनीक पर कार्य किया जा रहा है।जिसे लाई-फाई कहते हैं।इस तकनीक के आ जाने से डाटा ट्रांसफर के मामले में इंटरनेट की दुनिया का कायापलट हो जाएगा।आइए जानते हैं लाई-फाई (Li-Fi) के बारे में विस्तार से।

और पढ़िए : कृत्रिम सूर्य – अंतरराष्ट्रीय तापनाभिकीय प्रायोगिक संयंत्र International Thermonuclear Experimental Reactor

लाई-फाई क्या है। what is LiFi?

Li-Fi
Li-Fi

लाई-फाई ( Li-Fi ) का पूरा अर्थ है लाइट फिडेलिटी (light fidelity), लाई-फाई ( Li-Fi ) का अाविष्‍कार प्रोफ़ेसर हेराल्ड हास ( Harald Haas ) ने सन् 2011 में किया था। इन्होंने सबसे पहले LED बल्ब के  दृश्य प्रकाश का उपयोग कर  10MBPS  तक के  बैंडविथ को जनित किया। इस प्रकाश तरंग का उपयोग डाटा संप्रेषण में प्रयोग में लाया जाएगा  है। इस प्रकाश तरंग को D-Light कहते हैं। वाई-फाई ( Wi-Fi) रेडियो फ्रीक्वेंसी (Radio Frequency) पर आधारित है, इसके विपरीत लाई-फाई असल में प्रकाश पर आधारित है, जो वाई-फाई से की तुलना में 100 गुना तेजी से डाटा का आदान-प्रदान करने में सक्षम है।

लाई-फाई टेक्नोलॉजी कैसे काम करती है? (How does Li-Fi work? In hindi)

लाई-फाई ( Li-Fi ) असल में प्रकाश पर आधारित है, जो वाई-फाई से की तुलना में 100 गुना तेजी से डाटा का आदान-प्रदान करने में सक्षम है। लाई-फाई तकनीक में डाटा का आदान-प्रदान करने के लिये LED बल्‍ब का प्रयेाग किया जाता है यानि इस तकनीक में डेटा विजिबल लाइट कम्युनिकेशन (वीएलसी) द्वारा ट्रांसफर होता है।आसान भाषा मे ये लगभग वैसे काम करेगा जैसे रिमोट के द्वारा किसी डिवाइस को कंट्रोल किया जाता है।

लाई-फाई के लाभ / Benefits of Li-Fi

1. इसका उपयोग उन स्थानों पर कर सकते हैं जहां रेडिएशन का दुष्प्रभाव हो। D-Light पूर्णतया मानव स्वास्थ्य एवं पर्यावरण के लिए सुरक्षित है।

2. यह तकनीक वाईफाई से सौ गुना ज्यादा तेज है,इसलिए इसके द्वारा Data का ट्रांसफर तीव्र गति से किया जा सकेगा।

3. ‎लाई-फाई तकनीक का एक बड़ा फायदा यह है कि यह वाई-फाई की तरह दूसरे रेडियो सिग्नल के लिए अवरोध नहीं बनता है. इसलिए इसका इस्तेमाल विमान के केबिन, अस्पतालों और परमाणु ऊर्जा संयंत्रों में विद्युत चुम्बकीय हस्तक्षेप के बिना उपयोग में लाया जा सकता है।

4. ‎अस्पतालों या संकरे शहरी इलाकों, जहां वाई-फाई का प्रयोग सुरक्षित नहीं है, वहां इसका इस्तेमाल किया जा सकता है।

5. ‎यह भी वाई-फाई ( Wi-Fi) की तरह ही एक वायरलैस नेटवर्किंग सुविधा है

लाई-फाई की कमियाँ / Drawbacks of Li-Fi

1. इसका उपयोग एक निश्चित दूरी अथार्त कम दूरी के लिए ही किया जा सकता हैं।

2.यह तकनीकी प्रकाश पर आधारित हैं इसलिए वाई-फाई ( Wi-Fi) सिग्‍नल की तरह दीवार या किसी ठोस वस्तु के आर-पार नही जा सकती हैं।

3. इसे धूप में इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है क्योंकि सूर्य की किरणें इसके सिग्नल में बाधा उत्पन्न करती है।

Leave a Comment

error: Content is protected !!