KYC Full Form in hindi – KYC क्या होता है

आजकल केवाईसी(KYC) शब्द बहुत प्रचलित हो गया है, आप जहां भी वित्तिय लेनदेन करने जाएंगे वही आपको यह शब्द सुनने को मिलेगा। आप बैंक में लोन लेने जाएंगे तभी भी यह शब्द सुनने मिलेगा। हम सब इस सेवा का उपयोग अपने जीवन में करते हैं जब हम बैंक में खाता खुलवाते हैं तब भी यह प्रक्रिया पूरी करनी पड़ती है। यह सेवा बैंक से प्राप्त की जाती है,इसके अलावा आजकल ऑनलाइन बैंकिग करने वालो को भी अपना KYC सत्यापन (KYC Verification in hindi) करना पड़ता है। ज्यादातर लोग बैंक का उपयोग या ऑनलाइन बैंकिग का उपयोग अपने जीवन में करते हैं इसलिए केवाईसी ( KYC full form in hindi)  करना जरूरी है|

आज इस लेख में हम आपको KYC से संबंधित सभी जानकारी साझा करेंगे,जैसे केवाईसी ( KYC) का मतलब क्या है,केवाईसी फॉर्म क्यों भरते हैं?,केवाईसी कितने प्रकार की होती है,Kyc kya hai आदि।

यह भी पढ़िये : Iso full form in hindi,iso certificate meaning, iso क्या होता है?

KYC Full Form in hindi

Kya ka pura naam – “ग्राहक को जाने”

KYC Full Form in English

KYC full form – “KNOW YOUR CUSTOMER”

केवाईसी (KYC) क्या होता है। ( what is KYC in hindi)

Kyc kya hai – केवाईसी का पूरा नाम (KYC Full Form in hindi) – “KNOW YOUR CUSTOMER)” है।  इसे हिंदी में ग्राहक को जानना पत्र (Kyc ka matlab) कहते हैं। केवाईसी ग्राहक की जानकारी देने वाला एक पत्रक है, इस पत्र में ग्राहक अपनी सारी जानकारियां लिखित में देता है। इसे आप बैंकिंग क्षेत्र में देखें तो बैंक खाता खोलते समय या बैंक से अन्य सुविधायें जैसे लोन आदि लेते समय ग्राहकों को फॉर्म भरने के लिए कहती है। बैंक के केवाईसी फॉर्म में अपना नाम, बैंक अकाउंट का नंबर, पैन कार्ड नंबर, आधार कार्ड नंबर, मोबाइल नंबर और पूरा पता भरना  पड़ता है। इस प्रकार बैंक को ग्राहक की सारी जानकारी प्राप्त हो जाती है|  बैंक को जरूरत पड़े तो उस  जानकारी का उपयोग करके वह ग्राहक से संपर्क कर सकती है।

केवाईसी के प्रकार -Types of KYC in hindi

मुख्य रूप से केवाईसी के दो प्रकार ( Types of KYC in hindi) होते हैं जो नीचे दर्शाए अनुसार है-

●आधार-आधारित KYC
●इन-पर्सन-वेरिफिकेशन (IPV) KYC

बैंक में केवाईसी कैसे करवा सकते हैं

बैंक केवाईसी आप तीन प्रकार से कर सकते हैं जो नीचे  दर्शाए अनुसार है:
● ऑनलाइन
● आधार-आधारित बॉयोमेट्रिक प्रमाणीकरण
● ऑफलाइन

ऑनलाइन KYC किस प्रकार करें

बैंक में केवाईसी ऑनलाइन करने के दो तरीके है जो नीचे  दर्शाए अनुसार है
1) आधार OTP 
2) आधार-आधारित बायोमेट्रिक KYC 

आधार OTP यह किसी व्यक्ति को मिनटों में आसानी से केवाईसी पूरा करने में मदद करती है और OTP-आधारित बायोमेट्रिक केवाईसी के लिए ऑनलाइन आवेदन करना पड़ता है फिर यह ऑनलाइन ही KRA  कार्यालय में बायोमेट्रिक वेरिफिकेशन के लिए जाता है।

आधार-आधारित बॉयोमेट्रिक प्रमाणीकरण: अपने बैंक केवाईसी को आधार-आधारित बॉयोमेट्रिक प्रमाणीकरण के द्वारा अपने केवाईसी को मंजूरी दिला सकते हैं। कोई कारणवश अगर आपका केवाईसी ऑनलाइन होता है तो आप ₹50000 का निवेश साल में कर सकते हैं। आपका केवाईसी अगर ऑफलाइन होता है तो आपकी निवेश की सीमा अधिकतम नहीं होगी|

ऑफलाइन KYC किस प्रकार करें

अगर आप अपना केवाईसी ऑफलाइन करवाना चाहे तो आप ऑफलाइन करवा सकते हैं, पर इसमें 7 दिन का समय लगता है क्योंकि उसे KRA द्वारा KYC को मंज़ूर होने में समय लगता है। आपको अपना केवाईसी ऑफलाइन करवाना है तो इसके लिए नीचे दर्शाए अनुसार काम करने पड़ेंगे।
● सर्वप्रथम अपने केवाईसी फॉर्म को डाउनलोड करें।
● अब आप अपने आधार या अपने पैन कार्ड की जानकारी उसमें भरे।
● फॉर्म को जमा करने के लिए KRA कार्यालय पर जाएं और जमा करें।
● आवेदन के फॉर्म के साथ आपको पहचान का प्रमाण और पता का प्रमाण जमा करवाना पड़ेगा।
● आपको किसी परिस्थिति में अपनी बायोमेट्रिक भी जमा करवानी पड़ सकती है।
● आप जब आवेदन का फॉर्म देंगे तो आप को एक नंबर दिया जाएगा जिसे आप अपने आवेदन पत्र की स्थिति जान सकते हैं।

KYC का फॉर्म कैसे भरें

केवाईसी के फॉर्म (kyc form kese bharte hai) भरने के लिए हम सर्वप्रथम उस को दो भागों में बांट देंगे नीचे दर्शाए अनुसार है, फिर मै आपको समझाता हूं।
1) आइडेंटिटी डिटेल्स
2) एड्रेस डिटेल्स

आइडेंटिटी डिटेल्स

केवाईसी के फॉर्म में आपको सर्वप्रथम आपनी निजी जानकारी भरनी पड़ती है जैसे आपका नाम, पिताजी का नाम, आप शादीशुदा हो या नहीं, आप स्त्री हो या पुरुष, आप की जन्म तिथि, आप का पैन नंबर एवं आपका आधार नंबर लिखना पड़ता है। उसके पश्चात आपको अपना पहचान का प्रमाण दर्शाना पड़ेगा। केवाईसी अपडेट करवाने के लिए सरकार द्वारा कुछ नियम बनाए गए हैं जो नीचे दर्शाए अनुसार है:

KYC करवाने के दस्तावेज: ( KYC Documents)
●पासपोर्ट
● वोटर आईडी कार्ड
● पैन कार्ड
● ड्राइविंग लाइसेंस
● आधार कार्ड
● केंद्र सरकार राज्य सरकार द्वारा माननीय कोई भी फोटो वाला पहचान प्रमाण।

एड्रेस डिटेल्स

फॉर्म में पहले कोष्टक में आपको अपना स्थाई पता लिखना होता है उसके पश्चात आपको मोबाइल नंबर ,ईमेल आईडी फैक्स नंबर लैंडलाइन नंबर इत्यादि डिटेल्स भरनी है। इसके बाद आपको अपना पता का प्रमाण देना पड़ता है। आपको नीचे दिए गए दस्तावेज में से कोई एक जमा कराना पड़ेगा।
● पासपोर्ट
● वोटर आईडी कार्ड
● राशन कार्ड
● बिजली का बिल
● बैंक अकाउंट का स्टेटमेंट
● एलपीजी गैस का बिल
● लैंडलाइन टेलिफोन बिल
● क्रेडिट कार्ड बिल
● बैंक पासबुक
● ड्राइविंग लाइसेंस

People also ask

  • KYC का मतलब क्या है?
  • केवाईसी फॉर्म क्यों भरते हैं?
  • केवाईसी कितने प्रकार की होती है?
  • Kyc kya hai
  • Kuch means
  • Kyc kyo kiya jata hai
  • KYC Kese krte hai
  • Kyc ka matlab
  • Kya ka pura naam

Leave a Comment