द्वीप (Island) किसे कहते है?

द्वीप किसे कहते है?

द्वीप की परिभाषा (Definition of Island)

द्वीप (Island) स्थल खंड के ऐसे भाग होते हैं जिनके चारों ओर जल का विस्तार पाया जाता हैं उत्पत्ति के आधार पर इन्हें कई भागों में विभक्त किया जा सकता है।

द्वीप का वर्गीकरण या द्वीप के प्रकार (Types of Island)

उत्पत्ति के आधार पर द्वीप को निम्नलिखित भागों में विभक्त किया जा सकता है:-

  1. प्रवाल द्वीप (atolls)
  2. ‎ज्वालामुखी द्वीप (volcanic island)
  3. ‎अपरदनमूलक द्वीप  (Erosion island)
  4. ‎निक्षेपमूलक द्वीप  (Deposit oriented)
  5. ‎विवर्तनिक द्वीप  (Tectonic)

1. प्रवाल द्वीप(atolls)

उष्णकटिबंधीय सागरों में महाद्वीपीय मग्नतटो पर मृत मूंगा के जमाव से भी द्वीपों का निर्माण होता है। हिंद महासागर में स्थित लक्ष्यदीप,मालदीव तथा अटलांटिक महासागर स्थित बरमूडा द्वीप ऐसे ही प्रवाल द्वीप है।

2. ‎ज्वालामुखी द्वीप (volcanic island) 

महासागरीय कटको के सहारे निकलने वाला लावा का निक्षेप कभी-कभी इतना अधिक हो जाता है कि यह बढ़कर समुद्री जल की सतह से ऊपर आ जाता है एवं द्वीपों के रूप में दिखाई पड़ता है।ऐसे द्वीप मध्य अटलांटिक कटक के सहारे अधिक मिलते हैं हवाई तथा अल्युशीयन द्वीप ऐसे ही द्वीपों के उदाहरण हैं।

3. ‎अपरदनमूलक द्वीप (Erosion island) 

मुलायम चट्टानों पर अपरदन कार्य शीघ्रता से होते हैं परंतु कहीं-कहीं कठोर चट्टान बचे रह जाते हैं जिसके चारों ओर जल भर जाने से ऐसे द्वीप बनते हैं। ग्रीनलैंड हिमानियों के अपरदन से बने द्वीप का उदाहरण है।

4. ‎निक्षेपमूलक द्वीप (Deposit oriented island)

धरातल पर प्रवाहित होने वाली नदियों, हिमानीयों तथा सागर की लहरों के द्वारा अपने साथ बहा कर लाये गए पदार्थों के निक्षेपण से इन द्वीपो का निर्माण होता है।

5. ‎विवर्तनिक द्वीप (Tectonic island)

ऐसे द्वीपों की उत्पत्ति भूगर्भिक हलचलों द्वारा भूमि के नीचे धसने, समुद्री भागों में भूमि के ऊपर उठने, दरार घाटियों का निर्माण होने अथवा महाद्वीपीय भूभागों के अलग हो जाने से होता है। अटलांटिक महासागर में वेस्टइंडीज तथा प्रशांत महासागर के अनेक द्वीपों का निर्माण इसी प्रक्रिया से हुआ है।

 

और पढ़े : नील चन्द्र या ब्लू मून( Blue moon), सुपर मून(Super moon),ब्लड मून(Blood moon) क्या होता है? 

पोलर सिल्क रोड तथा आर्कटिक परिषद

Leave a Comment

error: Content is protected !!