B.Ed Full form,course details,in hindi-बीएड का फुल फॉर्म

हैल्लो दोस्तो, आज इस लेख के माध्यम से हम आपको बीएड (B.ed course) के बारे में जानकारी देने जा रहे है,जैसे कि B.Ed Full form,course details,in hindi,B.Ed College in India,बीएड का फुल फॉर्म इन हिंदी,B.ed. के बाद कैरियर आदि।

B.ed course details

बीएड (B.ed) क्या है – बीएड का मतलब- यह शिक्षा के क्षेत्र में बेचिलर डिग्री है। यह एक टीचर ट्रेनिंग कोर्स है। जो कि 2 वर्ष का कार्यक्रम होता है,जिसे सामान्यतः रेगुलर मोड़ पे अथवा पत्राचार के द्वारा किया जा सकता है। Ncert के नियमानुसार अगर आपको किसी भी विद्यालय में पढाना है तो आपको किसी भी मान्यता प्राप्त विश्विद्यालय से बी. एड. या समकक्ष कोई कोर्स  करना अनिवार्य है। किसी भी विद्यालय में बिना बी. एड. किए पढाना नियमों के खिलाफ है। कक्षा 5 तक पढ़ाने के लिए bstc तथा उस से ऊपर की कक्षाओं पे पढ़ाने के लिए इसे करना अनिवार्य है। अगर आप हायर सेकेंडरी लेवल तक के बच्चों को पढ़ाना चाहते हैं तो उसके लिए आपको B.Ed करना जरूरी होता है। अगर आपको अच्छी सैलरी के साथ-साथ बहुत सारा रिस्पेक्ट भी पाना  है, तो आपका यह सपना पूरा करने में यह कोर्स आपकी मदद करता है।

B.Ed Full form

B.ed – Bachelor of education

बीएड का हिंदी अर्थ – शिक्षा-स्नातक

B.Ed qualification – पात्रता

B. ed 2 वर्ष का पाठ्यक्रम होता है जिसमे प्रवेश हेतु विभीन्न विश्विद्यालय पात्रता परीक्षा आयोजित करवाते है। ग्रेजुएशन के बाद इस कोर्स को करने के लिए कम से कम 50 परसेंट ग्रेजुएशन में होना चाहिए। ST/SC और फिजिकली हैंडिकैप्ड लोगों के लिए पांच परसेंट का कंसेशन दिया जाता है। 4 साल का इंटीग्रेटेड B.Ed कोर्स करने हेतु कक्षा 12th में परसेंटेज कम से कम 50 होना चाहिए। यहां भी एससी एसटी जाति वर्ग और फिजिकल हैंडिकैप्ड लोगों को पांच परसेंट का रिलैक्सेशन मिलता है।

बीएड इंटीग्रेटेड कोर्स के विकल्प

बीए+ बीएड = 4 साल

बीएससी + बीएड = 4 साल 

बी कॉम + बीएड = 4 साल 

B Ed Full form,course details,in hindi

B.ed course duration

B. ed कोर्स कितने साल का होता है यह एक  2 वर्ष का कोर्स होता है जिसे कोई भी स्टूडेंट ग्रेजुएशन  के बाद कर सकता है। वर्ष 2018 में mhrd के द्वारा इस कोर्स को और ज्यादा प्रोफेशनल बनाने के लिए, कोर्स को 4 साल के इंटीग्रेटेड कोर्स में बदलने का फैसला किया गया,ताकि शिक्षक को चारों साल पढ़ाने की बारीकिया सिखाई जा सके। 4 साल के इंटीग्रेटेड कोर्स के अंतर्गत आपके पास ऑप्शन होता है कि आप कला , वाणिज्य, या विज्ञान किसी भी संकाय से ग्रेजुएशन करते हुए b. ed. कर सकते है। इससे 4 साल पूरे होने पर आपको एक साथ 2 डिग्री मिल जाएंगी। जो स्टूडेंट्स अपना ग्रेजुएशन कर चुके है, वे भी अपना बीएड कर सके इस लिए अभी तक 2 वर्ष का बी.एड कार्यक्रम जारी है।

यदि अभी आपने कक्षा 12 पास (b.ed after 12th) की है तथा आप एक टीचर बनना चाहते है  तो आपके लिए इंटीग्रेटेड कोर्स करना ज्यादा बेहतर रहेगा।

Admission – बीएड प्रवेश प्रक्रिया

B.ed admission – प्रवेश प्रक्रिया- पात्रता परीक्षा के आधार से / कई विश्वविद्यालय मेरिट की आधार पर भी प्रवेश देते है। राजस्थान में ptet एग्जाम देना अनिवार्य है।

Fee – फीस

B.ed fee – फीस – कोर्स के लिए फीस  5 हजार पर ईयर से लेकर 100000 पर ईयर तक है। निजी विश्वविद्यालयो की फीस,सरकारी विश्वविद्यालयो की तुलना में काफी ज्यादा है।

B.ed. के बाद कैरियर

यह कोर्स करने के बाद आपके पास कैरियर को लेके के बहुत सारे विकल्प उपस्थित हो जाते है। जैसे कि आप आगे पढ़ाई कर सकते हैं, या फिर नौकरी कर सकते हैं। इस के बाद आप उच्च शिक्षा हेतु M.Ed या P.Hd. कर सकते है। अगर आप जॉब करना चाहते हैं तो टीचर की नौकरी के अलावे भी आपके पास कई ऑप्शंस होते हैं।

टीचर – अगर आप बच्चो को पढाना चाहते है तो ये आपको बेहद शानदार विकल्प प्रदान करता है। इस क्षेत्र में कमाई आपके पढ़ाने के तरीके पे भी निर्भर है पर औसतन भी बात की जाए तो इसमें आपको दो से चार लाख पर ईयर तक की कमाई हो सकती है।

लायब्रेरीयन- यह कोर्स करने के बाद आप लाइब्रेरियन के रूप में काम कर सकते है। यहाँ आपका मुख्य कार्य बुक्स को अच्छे से रखरखाव करना होता है।

काउन्सिलर – B.Ed करने के बाद बहुत से लोग काउंसलर के रूप में काम करते है जहां उनका काम बच्चों का काउंसलिंग करना होता है ।यहां भी लोग तीन से ₹500000 तक हर साल कमा लेते हैं।B.Ed करने के तुरंत बाद अगर आप पढ़ाने की इच्छा रखते है तो किसी भी स्कूल में जाके पढ़ा सकते है।मगर सरकारी नौकरी पाने के लिए आपको पात्रता परीक्षा पास करना होता है।अलग-अलग राज्यों में टीचर की नौकरी के लिए अलग-अलग एग्जाम होते हैं।जैसे- TET – Teacher Eligibility Test

B.ed subjects

बीएड में कौन कौन से सब्जेक्ट होते है?इस कोर्स के अंतर्गत पढ़ाए जाने वाले विषय (subjects)-

अंग्रेजी, हिन्दी, संस्कृत, उर्दू, पंजाबी, भौतिकी, कॉमर्स,  तमिल, गणित,  इतिहास,  राजनीति विज्ञान,अर्थशास्त्र, मनोविज्ञान,  भूगोल, रसायन, विज्ञान, जीव विज्ञान, एकीकृत विज्ञान, समाजशास्त्र,  सामाजिक विज्ञान, गृह विज्ञान

B.Ed College in India

प्रमुख विश्वद्यालय जो B. Ed करवाते है

  • डीएम कॉलेज ऑफ टीचर एजुकेशन, इंफाल
  • गुरु गोविंद सिंह इंद्रप्रस्थ विश्वविद्यालय, नई दिल्ली
  • दयानंद महिला प्रशिक्षण महाविद्यालय, देहरादून
  • लॉर्ड कृष्णा कॉलेज ऑफ एजुकेशन, अंबाला
  • दिल्ली विश्वविद्यालय, नई दिल्ली
  • बनारस हिंदू विश्वविद्यालय, वाराणसी
  • लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी, जालंधर
  • एमिटी यूनिवर्सिटी, नोएडा
  • लोरेटो कॉलेज, कोलकाता
  • गवर्नमेंट कॉलेज फॉर विमेन एजुकेशन, कोयंबटूर
  • रांची विश्वविद्यालय, रांची
  • जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय, नई दिल्ली
  • बॉम्बे टीचर्स ट्रेनिंग कॉलेज, मुंबई
  • क्रिश्चियन कोलाज ऑफ एजुकेशन, कन्याकुमारी
  • गवर्नमेंट कॉलेज ऑफ एजुकेशन, चंडीगढ़
  • विद्यासागर शिक्षक प्रशिक्षण महाविद्यालय, मिदनापुर
  • अन्नामलाई विश्वविद्यालय, चिदंबरम
  • मुंबई विश्वविद्यालय, मुंबई
  • आइशाबाई कोलज ऑफ एजुकेशन, मुंबई
  • गीता बजाज महिला शिक्षक प्रशिक्षण संस्थान, जयपुर
  • सेंट्रल इंडिया कॉलेज ऑफ एजुकेशन, नागपुर
  • पटना विश्वविद्यालय, पटना
  • इंस्टिट्यूट ऑफ एडवांस्ड स्टडी इन एजुकेशन, चेन्नई
  • ग्रीन वैली कॉलेज ऑफ एजुकेशन, भोपाल
  • आंध्र विश्वविद्यालय, विशाखापत्तनम
  • लेडी इरविन कॉलेज, नई दिल्ली
  • लेडी श्री राम कॉलेज फॉर विमेन, नई दिल्ली

People also ask

B.ed fee – फीस – इस कोर्स के लिए फीस  5 हजार पर ईयर से लेकर 100000 पर ईयर तक है। निजी विश्वविद्यालयो की फीस,सरकारी विश्वविद्यालयो की तुलना में काफी ज्यादा है।

यह कोर्स करने के बाद आपके पास कैरियर को लेके के बहुत सारे विकल्प उपस्थित हो जाते है। जैसे कि आप आगे पढ़ाई कर सकते हैं, या फिर नौकरी कर सकते हैं। इस के बाद आप उच्च शिक्षा हेतु M.Ed या P.Hd. कर सकते है। अगर आप जॉब करना चाहते हैं तो टीचर की नौकरी के अलावे भी आपके पास कई ऑप्शंस होते हैं। जैसे लायब्रेरीयन,काउन्सिलर

आयु सीमा कम से कम 21 वर्ष और अधिकतम 40 वर्ष होनी चाहिए

b.ed course duration from 2020, b.ed course admission 2020

Leave a Comment